Follow by Email

4/23/18

what is spirituality अध्यात्म क्या है? aadyatm kya hai? in hindi

what is spirituality अध्यात्म क्या है? aadyatm kya hai? in hindi

what is spirituality 
what is spirituality अध्यात्म क्या है? aadyatm kya hai? in hindi
what is spirituality अध्यात्म क्या है?
 aadyatm kya hai? 

अगर हम अपनी आज की जिंदगी में नजर दौड़ाए तो हमें मालूम पड़ेगा कि हम भौतिक सुख सुविधाओंं की प्राप्ति के लिए लगे रहते हैं इन सांसारिक सुविधाओं को आध्यात्म की भाषा में पदार्थ कहते हैं ।

what is spirituality अध्यात्म क्या है? aadyatm kya hai? in hindi

हम सभी इसी पदार्थ की प्राप्ति के लिए भाग दौड़ में लगे रहते हैं तथा इसी पदार्थ के लिए सामाजिकता और नैतिकता की सीमा का हनन कर देते हैं।यह एक चिंतनीय विषय है ।आजकल हम समाचार पत्र  में रोज  चोरी ,लूट ,हिंसा व बलात्कार जैसी घटनाओं के विषय में पढ़ते हैं चिंतन करने का विषय यह है कि आखिर हमें ऐसी खबरें पढ़ने को क्यों मिलती हैं इसका एक मात्र उत्तर यही है कि समूची  मानव जाति भौतिक पदार्थों  की प्राप्ति में लिप्त है ।


ये भौतिक सुख सुविधा एक व्यक्ति को क्षणिक आनंद तो दे सकते हैं लेकिन जीवन पर्यंत आनंद नहीं दे सकते यही कारण है कि मनुष्य एक पदार्थ का सेवन कर लेता है तो वह दूसरे  पदार्थ की प्राप्ति में लिप्त हो जाता है क्योंकि एक पदार्थ उसे एक बार से ज्यादा  आनंद नहीं दिला सकता  ।
यही कारण है कि मनुष्य इच्छाऐ अपरिमित हैं।



 मनुष्य ने अपनी इच्छाओं की प्राप्ति के लिये हमेशा विज्ञान का सहारा  लिया है लेकिन हमे ये नही भूलना चाहिए कि यही विज्ञान  हिरोशिमा व नागासाकी विनाश के लिए भी जिम्मेदार है विज्ञान भौतिक सुख   तो देता है लेकिन प्रकृति के साथ छेड़छाड़ करके प्रदूषण व कई सारी असाध्य  रोगों को भी जन्म देता है अतः यह विकास के साथ-साथ विनाश के लिए ज्यादा जिम्मेदार है।



also read-The Unimaginable Power( अकल्पनीय शक्ति) power of maditation

हमें इस बात को समझना चाहिए कि भौतिक पदार्थों की प्राप्ति के लिए हम गलत कदम उठाते हैं जिससे हमारी सभ्यता, संस्कृति और मानव गरिमा को गहरी चोट पहुंचती है आज हर किसी को कोई न कोई परेशानी है कोई बीमार है तो कोई गरीब कोई परेशान है तो कोई चिंता के सागर  मे डूबा है अगर मानव को भौतिक सुविधाओं मैं ही शांति मिलती तो वह हमेशा प्रसन्न  रहता लेकिन आज मानव जिंदगी में प्रसन्नता है ही कहां?कितना अच्छा होता अगर हम हमेशा प्रसन्न  रहते।
also read-what is god

कितना अच्छा होता अगर हम सारी चिंता से मुक्त हो जाते !
कितना अच्छा होता अगर हम अपनी जीवन की वास्तविक आवश्यकताओं को समझ पाते!
मित्रों  आध्यात्म हमें यही सिखाता है अपने अंदर की चेतना को जानना अर्थात अपनी वास्तविक आवश्यकताओ को समझना ही  आध्यात्म है अगर हम अपने अंदर की इसी चेतना को समझ ले तो हम कभी दुखी नहीं रह सकते ।
तो आज ही स्वयं से यह प्रश्न कीजिए कि मैं कौन हूं ?और मेरा इस संसार में क्या काम है ?
अगर आप अपने अंतर्मन की आवाज सुनने में सक्षम हैं तो वही से आध्यात्मिक जीवन की शुरुआत होती है खुद को जानना ही अध्यात्म  का परम लक्ष्य है।
सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः |
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु, मा कश्चिद् दुःखभाग भवेत् |



#what is spirituality 
#what is spirituality अध्यात्म क्या है? aadyatm kya hai? in hindi
#what is spirituality अध्यात्म क्या है?
 #aadyatm kya hai? 



आशा करता हुँ की आपको ये पोस्ट पसंद आया।
     धन्यवाद।



--silent writer

comment your suggestions

also follow us facebook

https://www.facebook.com/All-Rounder-2004588796475494/


follow us instagram

https://www.instagram.com/manishbishtmannu/


http://gestyy.com/wSg3I5


http://gestyy.com/wSg1QK


https://amzn.to/2PBPg8H


#aadyatm kya hai #what is spirituality #what is philosophy
@consciousness #in hindi
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
 

best and cheap hosting

Delivered by FeedBurner