Posts

Showing posts from April, 2018

what is spirituality अध्यात्म क्या है? aadyatm kya hai? in hindi

Image
what is spirituality अध्यात्म क्या है? aadyatm kya hai? in hindiwhat is spirituality 
what is spirituality अध्यात्म क्या है? aadyatm kya hai? in hindi
what is spirituality अध्यात्म क्या है?
 aadyatm kya hai? 

अगर हम अपनी आज की जिंदगी में नजर दौड़ाए तो हमें मालूम पड़ेगा कि हम भौतिक सुख सुविधाओंं की प्राप्ति के लिए लगे रहते हैं इन सांसारिक सुविधाओं को आध्यात्म की भाषा में पदार्थ कहते हैं ।

what is spirituality अध्यात्म क्या है? aadyatm kya hai? in hindi

हम सभी इसी पदार्थ की प्राप्ति के लिए भाग दौड़ में लगे रहते हैं तथा इसी पदार्थ के लिए सामाजिकता और नैतिकता की सीमा का हनन कर देते हैं।यह एक चिंतनीय विषय है ।आजकल हम समाचार पत्र  में रोज  चोरी ,लूट ,हिंसा व बलात्कार जैसी घटनाओं के विषय में पढ़ते हैं चिंतन करने का विषय यह है कि आखिर हमें ऐसी खबरें पढ़ने को क्यों मिलती हैं इसका एक मात्र उत्तर यही है कि समूची  मानव जाति भौतिक पदार्थों  की प्राप्ति में लिप्त है ।


ये भौतिक सुख सुविधा एक व्यक्ति को क्षणिक आनंद तो दे सकते हैं लेकिन जीवन पर्यंत आनंद नहीं दे सकते यही कारण है कि मनुष्य एक पदार्थ का सेवन …

Top 3 Most evil mad scientist तीन सबसे निर्दयी वैज्ञानिक in hindi

Image
विज्ञान एक बहुत ही रोचक विषय है रोज यहां नई-नई खोजें होती रहती हैं लेकिन दुनिया में कुछ ऐसे विज्ञानिक भी रहे थे जो कुछ नया करने के जुनून में निर्दयी बन गए।

 आज हम आपको उन निर्दयी विज्ञानिक और उनके अजीब प्रयोंगों के बारे में बताएंगे

#3 HARRY HARLOW इनको the monkey torturer के नाम से भी जाना जाता है
ये अमेरिका के वैज्ञानिक थे वे जानना चाहते थे कि संसार में जीवन ज्यादा बहुमूल्य है या रिश्ता
 इस प्रयोग के लिए वह बंदरों के बच्चों के ऊपर अजीब-अजीब प्रयोग  करते थे और उन्हें रोज प्रताड़ित करते थे यह प्रयोग बहुत विवादित  रहा था लेकिन इसके बावजूद भी उस  प्रयोग को करते  रहे ।


#2 Vladimir demikhov- ये सोवियत वैज्ञानिक और सर्जन थे।
सबसे पहले मानवनिर्मित दिल बनाने व पहला  यकृत प्रत्यारोपण का श्रेय इनको ही जाता है लेकिन इनको दुनिया इन् कामो के लिए नही जानती बल्कि दोमुंही कुत्ता बनाने के लिए जानती है
इन्होंने 1954 में एक पिल्ले का सर काटकर एक दूसरे कुत्ते के साथ जोड़ दिया था हालांकि वे कुत्ते जल्दी ही मर गए थे
लेकिन अगले 15 सालो मे ऐसे ही 19 कुत्तों का निर्माण किया।


#1 Shiro Isshi यह एक जापानी आर्मी …

The Unimaginable Power( अकल्पनीय शक्ति) power of maditation

Image
The Unimaginable Power( अकल्पनीय शक्ति)The Unimaginable Power( अकल्पनीय शक्ति) power of maditation हमारा दिमाग एक बायलॉजीकल सिस्टम है इसके अंदर हमेशा कुछ न कुछ चलता ही रहता है शायद  आपको पता नहीं होगा कि हमारे दिमाग के   पास अपरिमित अलौकिक व असीमित शक्तियों का भंडार है लेकिन इस दुनिया में कुछ ही ऐसे लोग होते हैं जो इन  अलौकिक व असीमित शक्तियों का प्रयोग कर पाते हैं दरअसल यह शक्तियां हमारे अंर्तमन में सोई हुई है जिन्हें हमें जागृत करना पड़ता है इन जो व्यक्ति इन शक्तियों को जगाने  में सफल होता है उसके पास यह अलौकिक शक्तियां आ जाती हैं और उसे हम जिंदगी में सफल व्यक्ति मानते हैं।
हमारा दिमाग एक दिन में विभिन्न स्थितियों से  गुजरता है इन विभिन्न स्थितियों को हम 5 भागों में बांटते हैं-

1-गामा(¥)
2-डेल्टा(∆)
3-थीटा
4-अल्फा
5-बीटा
डेल्टा स्तिथि में हम तब होते हैं जब हम नींद में होते हैं।
थीटा स्थिति में हम तब होते हैं जो जब हम सो कर उठते हैं अर्थात  सोने कर तुरंत बाद जब हम उठते हैं तो उसके 5 मिनट के अंदर हमारा दिमाग थीटा  स्थिति में ही होता है
अल्फा स्थिति वह स्थिति होती है जब हमारा दिमाग क…

The giant penis park पेनिस पार्क

Image
The giant penis park पेनिस पार्क


The giant penis park पेनिस पार्क  इस दुनिया में अजीबोगरीब चीजों का निर्माण समय-समय पर होता आ रहा है कभी चीन में तो कभी जापान में हमें अजीब-अजीब निर्माण देखने को मिल ही जाते हैं ऐसा ही एक अजीब निर्माण आजकल सुर्खियों में है जी हां साउथ कोरिया में पुरुष के पेनिस की थीम पर बना यह मसहूर पेनिस पार्क अपनी ओर सबका ध्यान आकर्षित कर रहा है The giant penis park पेनिस पार्क

इस पार्क को देखने के लिए आजकल लोगों की काफी भीड़ उमड़ रखी है यहां हर चीज पुरुष के लिंग के आकार की बनी हुई है मतलब कुर्सी मूर्तियां स्तंभ झूले सब कुछ लिंग के आकार की ही है दरअसल कुछ साल पहले इस जगह पर एक कपल बेबी प्लान करने आया था ऐसा कहा जाता है कि उनका यहां गुडलक हुआ था जिस वजह से उनकी याद में यहां पेनिस पार्क बनाया गया।  जो कपल बेबी प्लान करना चाहते हैं वह पहले यहां आते हैं और यहां का लुफ्त उठाते हैं और फोटो क्लिक करवाते हैं। आजकल यह पार्क साउथ कोरिया में ही प्रसिद्ध नहीं है बल्कि यहां घूमने के लिए कई लोग विदेशों से भी आते हैं। नीचे कुछ फोटो दी गयी हैं ये फोटो उसी पार्क की हैं










thanks

Unusual experiment of mahatma gandhi( महात्मा गांधी के अश्लिन प्रयोग)

Image
दोस्तों महात्मा गांधी को पूरे विश्व में शांति और उनकी अहिंसावादी सोच के लिए जाना जाता है लेकिन उनकी जिंदगी का एक ऐसा पहलू भी है जिसके बारे में इतिहास में काफी वर्णन मिलता है पर उसके बारे में कोई बात नहीं करना चाहता लेकिन आज हम उस विषय के बारे में बात करेंगे।
 गांधी जी की जिंदगी से जुड़ा हुआ वह पहलू है उनके द्वारा महिलाओं पर किये गए अस्लीन प्रयोग यूँ  तो गांधीजी ने 38 की उम्र में बह्मचर्य धारण कर लिया था अगर कोई व्यक्ति बह्मचर्य धारण कर लेता है तो उसे सारी काम भावना व शारारिक संबंधों को त्याग  कर साधारण सात्विक व आध्यात्मिक जीवन व्यतीत करना होता है वह किसी भी महिला से कोई संबंध नहीं बना सकता।



गांधी जी को भी ऐसा ही करना था लेकिन इसका उन पर विपरीत प्रभाव दिखने लगा वह महिलाओं की उपस्थिति में असहज महसूस करने लगे थे। जिस कारण उन्होंने आश्रम की महिलाओं पर अजीबो-गरीब अश्लील प्रयोग करना शुरु कर दिया था।
 गांधीजी मसाज कराने की शौकीन थे और वह आश्रम में नग्न महिलाओं से मसाज करवाते थे और उन्हीं के साथ नग्न अवस्था में सोते थे
 ऐसा करने वालों मैं उनकी पौत्री मनु भी शामिल थी वे अपनी पौत्री के साथ नग…

Nai soch( नई सोच)

hindi poem  नई सोच जब ढक लिया अंधकार ने नभ को
समा गए   थे    मेघ    नभ  में
आभास हुआ था अमावस्या का
लगा था न होगा अंत तम का

       ऐसे में उत्पन्न हुआ था
        उत्साह का एक नया सवेरा
        नई किरण नए जोश से हम
      निर्माण करने चलें स्वर्णिम भारत का

प्रकृति इतनी धन्य हुई हम पर
मस्तक पर हिमालय सजाया
सागर से चरण धुलवाए
और हृदय से गंगा बहाई


  शहीदों की चिताओं से इसकी नींव बनाई थी    बापू के अरमानों पर खड़ा किया था भारत      परंतु    इस ।   व्यर्थ । ।  स्वार्थ।   से
    ढ़हने.  लगा है आज यह भारत ।


शहीदों की अस्थियां इतनी कमजोर तो नहीं थी बापू के अरमान इतने कमजोर तो नहीं थे ?
तो क्या कारण हो सकता है इसका ?
कहीं निर्माण में मिलावट तो शामिल  नहीं?


न ही भारत की नींव कमजोर थी
और ना ही इसके स्तंभ शायद
भारत निर्माण के अभियंता ही हैं  उद्दंड


              आओ मिलकर दंडित करें
              ऐसे उद्दंड अभियंता को
              जिन्होंने नींव को खोखला किया
              मिलकर करें उनका अंत

 आज हम मिलकर संकल्प लें
 मजबूत भारत हम बनाएंगे
 शांति का संदेश फैला कर
 विश्व गुरु हम बन जाएंगे।





written by
 …

poem on dowry system(दहेज प्रथा)

देखकर उसकी व्याकुलता
मेरे उर का हुआ उदय  देख कर उसकी अश्रुधारा  गा रहा है मेरा हृदय                   काली घटा छाई उस पर                    जाने ना किन पापों की                    बनी वह कलह का कलश                    अपने प्यारे कुटुंब की  
देहली पर इस घर की आई  लक्ष्मी बनकर वह नई   नष्ट किया इस कलश ने सब भरे थे जिनमे सपने कहीं         मां कह कर पुकारती जिसे           
    बनी है शत्रु आज उसकी                         
   नित्य प्रताड़ित करती है उसे                       
 मायाजाल में आज फसी
देखकर  उसकी की व्याकुलता  बाप बेचारा है परेशान  जानी न व्यथा उसकी  इन सबसे था अनजान                अपनी पुत्री के रोदन से                डर से सहमा उसका मन                 चिंतित है क्षण क्षण वह                कहां से प्राप्त हो इतना धन
ससुर को भी कुछ न सुझा लगा मानवता को लजाने में  फिर दहक रही अग्नि  रसोई घर के कोने में                      संकीर्ण मानसिकताएं हमारी                     
                    बार-बार करें अपपमान                    पुत्रवधु समझ ना सही                     पुत्री सम…

reason behind indian poverty

reason behind indian poverty भारत के लोग स्मार्ट परिश्रमी दयालु व मितव्यई होते हैं भारत प्राकृतिक संपदा से परिपूर्ण देश है|
 माना जाता है कि यहां का लोकतंत्र काफी मजबूत है इतना कुछ होने के बावजूद भी प्रश्न यह उठता है कि आजादी के 70 वर्ष बाद भी भारत गरीब क्यों है? वह कौन से कारण हैं जो भारत को गरीब व अमेरिका को अमीर बनाते हैं ऐसा क्या है कि भारत का जीडीपी(सकल घरेलू उत्पाद) मात्र 1500 यूएस डॉलर है जबकि अमेरिका का जीडीपी 53,000 युएस डॉलर है (प्रतिव्यक्ती) क्यों हम अमेरिका जैसे देश से पिछड़ रहे हैं क्यों एक अमेरिकी नागरिक भारतीय से 35 से 36 गुना ज्यादा कमा रहा है या उत्पादन कर रहा है |

वास्तव में भारत विश्व का सबसे विकसित देश बन सकता था क्योंकि इसके पास सवा सौ करोड़ का मानव संसाधन है परंतु आज की स्थिति में इसका यह मानव संसाधन इसके लिए बोझ बना हुआ है रोज हमारे सामने नए-नए ऐसे मुद्दे घटनाएं आती हैं जिनसे अपने देश के आत्मसम्मान को ठेस पहुंचती हैं||

 उदाहरण के लिए 1 साल पहले हुई जेएनयू की बात ही ले लेते हैं कोई व्यक्ति देश के अंदर देश विरोधी नारे लगाता है और उसके उपरांत उसी व्यक्ति को बचाने …

THE BLACK hole

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं ब्लैक होल्स के बारे में जी हां ब्लैक होल शायद आप में से बहुत लोग इस बारे में जानते भी होंगे
जैसा कि इसका नाम सुनकर लगता है कि यह कोई काला छेद होगा लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है यह कोई काला छेद नहीं बल्कि ब्रह्मांड के अद्भुत अकल्पनीय दानव हैं जिनकी भूख कभी खत्म नहीं होती यह हमेशा कुछ ना कुछ खाते रहते  दरअसल ब्लैक होल  इतने सघन आकाशीय पिंड हैं कि इनकी ग्रेविटी के आगे प्रकाश भी नहीं बच सकता अर्थात यह प्रकाश को भी खा जाते हैं यह उतने ही सघन होते हैं मानो पूरी पृथ्वी को दबाकर एक टेनिस बॉल का आकार दे दिया हो अब यह पिंड इतनी ज्यादा सघन होते हैं तो आप अनुमान लगा सकते हैं कि इनकी ग्रेविटी कितनी ज्यादा होगी दोस्तों पृथ्वी के मुकाबले इनकी ग्रेविटी लाखों-करोड़ों गुना ज्यादा होती है एक ब्लैक होल का द्रव्यमान:-                              ब्रह्मांड में जब भी कोई भारी चीज दिखती है तो उसे नापने के लिए हम अपने आसपास सबसे भारी चीज को ढूंढते हैं और हमारे आसपास सबसे भारी चीज है सूर्य तो हम एक ब्लैक होल का द्रव्यमान नापने के लिए उसे सूर्य  से तुलना करते जिसे सोलर मास कहते हैं…

New blog

Image
new blog new blog
i have just created a blog
guys plz wait i will start writing very soon