Follow by Email

1/28/19

how to port sim || port to jio

how to port sim step by step-


दोस्तों अगर आपके घर में network problem रहता है और आप अपने Network provider से परेशान हो चुके है तो ऐसे मे आपको अपना sim port करवा लेना चाहिये। लेकिन अगर आप नहीं जानते  how to port sim सिम को कैसे पोर्ट करवाते हैं तो आप बिलकुल सही जगह पर आये हैं आज हम बात करेंगे how to port sim, how to port number. नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका technicalkeeda.in पर चलिए शुरू करते हैं।

क्या होता है sim port?

 दोस्तों अगर आपका मोबाइल फोन खो खो जाता है या फिर आपका आपके घर में आपके फ़ोन पर नेटवर्क नहीं आते और आप नया नंबर लेने से डरते हैं क्योंकि आपका फ़ोन नम्बर काफी lucky है या आपका मोबाइल नंबर बहुत सी जगह लिंक हो चुका है  तो ऐसे में कंपनी ने आपके लिए एक सुविधा बनाई हुई है कि आप अपना सिम पोर्ट sim port करा सकते हैं|

 सिम पोर्ट sim port  कराने का मतलब कि आप same मोबाइल नंबर को किसी दूसरे नेटवर्क ऑपरेटर network operator में बदल सकते हैं। उदाहरण के लिए अगर आपके पास वोडाफोन का नंबर है और आप उसे जिओ के नंबर में पोर्ट ( port to jio) कराना चाहते हैं तो आप ऐसा बिलकुल कर सकते हैं ।इसी सुविधा को MNP(एम एन पी) मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी  mobile number portability या सिम पोर्ट  sim port करना कहा जाता है।

how to port sim
sim



कैसे करवाएं sim port-


दोस्तों सिम पोर्ट sim port  कराना कोई बहुत मुश्किल काम नहीं है और ना ही इसमें कोई रॉकेट साइंस (rocket science ) लगती है इसके लिए आपको सीधे-सीधे नीचे दिए गए कुछ step follow स्टेप फॉलो करने होते हैं।


सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फोन के मैसेज बॉक्स message box  में जाना है और वहां पर टाइप करना है  PORT <आपका 10 अंको का mobile नंबर> और उसी भेज देना है 1900 पर। यह TRAI का central number है जो  mobile number portability  के लिए ही बना है। अब आपको बता दूं कि TRAI ( Telecom Regulatory Authority of India ) सभी नेटवर्क ऑपरेटर का बॉस है जो सभी network के ऊपर निगरानी रखता है ।


जैसे आपका फ़ोन नंबर 1234567890 है तो आपको अपने message box पर type करना है
PORT 1234567890 और इसे भेज देना है 1900 पर। 10 से 15 मिनट मे आपको 1901 से एक और message मिलेगा जिसमे आपको एक UPC CODE unique port code मिलेगा जो 8 digit का होगा ।


उसके बाद आप उस नेटवर्क ऑपरेटर के पास जाएं जिसमें आप अपना नंबर पोर्ट करना चाहते हैं जैसे कि मुझे अपना मोबाइल नंबर वोडाफोन से जिओ में पोर्ट ( port to jio ) करना चाहता हूं तो मुझे जिओ के कस्टमर केयर सेंटर customer care center पर जाना होगा और उनसे जाकर एक फॉर्म form भरवाना  होगा और उस form  में अपना यूपीसी कोड UPC code देना होगा इस पूरी प्रक्रिया में आपके अकाउंट से ₹19 काटने ₹19 काटने का प्रावधान भी है । और  ध्यान रहे की यूपीसी कोड केवल 15 दिन के लिए ही वैध है।


एक बार अगर आपका फॉर्म जमा हो जमा हो फॉर्म जमा हो जाता है तो इस पूरी प्रक्रिया मैं आपको 7 दिन 7 दिन से 14 दिन तक का वक्त लग सकता है और फिर आपका मोबाइल नंबर पोर्ट mobile number port  हो जाएगा।

how to port sim
sim remove

Also read-

What is pixels || पिक्सल क्या होते हैं?

Also read-

What is pixels || पिक्सल क्या होते हैं?

किसमें करवाना चाहिए number port-

अगर आप मेरी राय मानें तो तो आजकल के हिसाब से पूरे भारत में जिओ ने अपनी काफी अच्छी मार्केट बनाकर काफी अच्छी मार्केट बनाकर रख ली है। 

जियो का अपना खुद का नेटवर्क भी है जिस वजह से वह दिन पर दिन और मजबूत होता जा रहा है और आने वाले 10 साल में जियो reliance jio पूरे भारत में काफी अच्छी पकड़ बना लेगा और धीरे-धीरे अन्य टेलीकॉम कंपनियां जैसे एयरटेल airtel, वोडाफोन vodafone, आइडिया idea,बीएसएनएल BSNL ,सभी का पत्ता साफ करता रहेगा । इसका साफ साफ असर देखने को मिल रहा है  इसी वजह से आजकल अन्य   TELECOM COMPANY जैसे कि वोडाफोन vodafone,  एयरटेल airtel, बीएसएनल BSNL, आइडिया IDEA, ने अपने नए प्लान निकाले हैं जिससे कि आपको हर महीने हर महीने मोबाइल नंबर में ₹35 डालना जरूरी है  अगर आप नहीं डालते तो आपका phone number बंद कर दिया जाएगा ।

 अगर आपके घर में जिओ reliance JIO के नेटवर्क नहीं आते तो आप बाकी अन्य टेलीकॉम कंपनियों को चुन सकते हैं लेकिन अगर आपके घर में जिओ  relaince jio के नेटवर्क आते हैं तो मेरा व्यक्तिगत राय है कि आप अपना मोबाइल नंबर जिओ में ही पोर्ट (port to jio ) कराएं जिससे आपको काफी अच्छा फायदा मिलेगा क्योंकि  reliance जिओ के प्लान अन्य टेलीकॉम कंपनियों के प्लान से भी सस्ते हैं और धीरे-धीरे जिओ का नेटवर्क मजबूत भी जिओ का नेटवर्क मजबूत भी का नेटवर्क मजबूत भी होता जा रहा है ऐसे में अगर आप अपने मोबाइल फोन जिओ में पोर्ट करते हैं तो आप संभवत फायदे में रह सकते हैं वैसे यह मेरी व्यक्तिगत राय थी अगर आपको कोई कोई दूसरा नेटवर्क ऑपरेटर पसंद है तो आप उसी में अपना सिम पोर्ट sim port करा सकते हैं।

Also read-

NEFT, IMPS , RTGS Fund transfer

Also read-

BIG BANG THEORY

sim port
handset

निष्कर्ष(Conclusion)-

दोस्तों हम मे से ज्यादातर लोग ऐसे हैं जो सिर्फ इसलिए mobile number port नहीं करते क्योंकि उनके मोबाइल नंबर या तो उनके किसी बैंक अकाउंट से लिंक है या तो फिर बहुत से महत्वपूर्ण कागज जैसे LPG , आधार कार्ड , PAN CARD, सभी जगह वही मोबाइल नंबर रजिस्टर है जिस वजह से वह अपना नेटवर्क ऑपरेटर बदलने में डरते हैं इसी वजह से हमें यह सुविधा दी गई है कि हम अपना मोबाइल फोन नंबर mobile phone port करवा सकते हैं। mobile number port करवाने से फायदा यह होता है कि आपको हर जगह जाकर अपना फ़ोन नम्बर बताने की जरूरत नही
होती। और आप बिना अपना फ़ोन नम्बर बदले अच्छे network का इस्तेमाल कर सकते हैं।
Also read-

How Google Map work

अगर आपको HOW to port sim post पसंद आया तो इसे जरूर शेयर करें और हमें फॉलो कर लीजिए।

here some decent offer for you with great discount-


NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
 

best and cheap hosting

Delivered by FeedBurner